Loan News

RBI के इस फैसले से अब लोन लेना होगा और भी मुश्किल, महंगा जानिए क्या है पूरी

Updated:

By Viraj Gupta

RBI: हाल ही के कुछ ही दिनों पहले एक रिपोर्ट सामने आई थी कि आरबीआई जल्दी ही अनसिक्योर्ड पर लगाम लगाने जा रही है जो आज सच हो गया है आरबीआई का एक फैसला अनसिक्योर्ड लोन बांटने की रफ्तार घटाने की कोशिश माना जा रहा है।

आरबीआई के इस फैसले के बाद बैंकों के टियर I कैपिटल से 0.4 से 0.8% की कमी नजर आ सकती है। वहीं Bajaj Finance के टियर I कैपिटल में 2.3% की कमी आने की आशंका जाता आई जा रही है

आरबीआई ने रिस्क वेटेज 100% से बड़ाकर कर 125 परसेंट कर दिया है इसके साथ ही केंद्रीय बैंक ने कंज्यूमर लोन क्रेडिट रिस्क वेटेज को भी बढ़ा दिया है. आपको बता दे की यह नियम बैंक और NBFCs दोनों पर ही लागू होंगे, जिसकी वजह से पुराने और नए दोनों लोन पर भी यह नियम लागू होगा। पर्सनल लोन पर पहले रिस्क वेटेज 100% था। जिससे अब बढ़ाकर अब आरबीआई ने 125% कर दिया गया है।

इसके अलावा अगर हम क्रेडिट कार्ड की बात करें तो पहले रिस्क वेटेज 125% था जिसे अब बढ़कर 150% कर दिया गया है इसके अलावा अगर हम NBFCs क्रेडिट कार्ड लोन की बात करे तो पहले रिस्क वेटेज 100% था जिसे बढ़ाकर 150% कर दिया है। आरबीआई के सख्त रवैय पर दिग्गज ब्रोकरेज हाउसेज ने भी अपनी राय दी है तो आईए जानते हैं उनका क्या कहना है।

RBI के इस फैसले से अब लोन लेना होगा और भी मुश्किल, महंगा जानिए क्या है पूरी
RBI के इस फैसले से अब लोन लेना होगा और भी मुश्किल, महंगा जानिए क्या है पूरी

आरबीआई के इस फैसले पर CLSA ने क्या कहा है

CLSA ने इस फैसले पर ब्रोकरेजेज की क्या राय बताते हुए सीएनबीसी-आवाज़ के यतिन-मोता ने कहा कि सीएलएसए का कहना है की आरबीआई के इस फैसला से अनसिक्योर्ड लोड बांटने की रफ्तार काफी घटाने की कोशिश मानी जा रही है इसके अलावा कुछ के बैंकों के टियर। कैपिटल में काफी बदलाव देखने को मिल सकता है उनका कहना है की कैपिटल में 0.4 से 0.8% की कमी नजर आ सकती है सीएलएसए के मुताबिक Bajaj Finance के कैपिटल में कमी आ सकती है इसके अलावा अगर हम देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई कार्ड के टियर के कैपिटल में 4.15% की कमी दिखाई दे सकती है।

Personal Loan को लेकर RBI कर रहीं है बैंकों को अलर्ट जारी जानिए क्या है पूरा मामला

आरबीआई के इस फैसले से बैंक,NBFCs और कंज्यूमर क्या होगा असर

अगर हम आरबीआई के इस फैसले से बैंक,NBFCs और कंज्यूमर पर इसके असर की और नजर डालें तो अब कंज्यूमर को लोन देनेके लिए ज्यादा प्रोविजनिंग करनी होगी. इसके अलावा अगर हम NBFCs के लिए फंड जुटाना महगा हो जायगा। बता दें कि कंज्यूमर पर आरबीआई के इस फैसले का असर यह होगा कि अब लोन और महंगा हो जाएंगे और साथ ही लोन लेना भी मुश्किल हो जाएगा। आपको बता दे की RBI के इस फैसले का असर नए और पुराने लोन पर भी लागू होगा।

Photo of author

Viraj Gupta

मेरा नाम Viraj Gupta हैं और में Loan Alert का लेखक हूँ, मेरा मानना है की आज के समय में Personal Finance, और Loan की जानकारी हर व्यक्ति को होनी चाहिए क्योंकि फाइनेंस और लोन हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है।

Leave a Comment

Telegram
Join Telegram Group